प्रदेश में वैक्सीनेशन के ट्रायल रन का शुक्रवार को अंतिम दिन है और इसे मिलाकर सभी 28 जिलों में ट्रायल पूरा हो जाएगा

प्रदेश में वैक्सीनेशन के ट्रायल रन का शुक्रवार को अंतिम दिन है और इसे मिलाकर सभी 28 जिलों में ट्रायल पूरा हो जाएगा। इस बीच, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय से संकेत मिले हैं कि छत्तीसगढ़ में टीके की खेप सीधे इसके निर्माताओं की ओर से डिस्पैच होगी, अर्थात टीके बिल्कुल समय पर आएंगे और वास्तविक टीकाकरण शुरू हो जाएगा। टीके को लेकर चर्चाएं जारी हैं, जैसे-वैक्सीन लगाने के बाद कितना आराम करना जरूरी होगा? जानकार डाॅक्टरों के मुताबिक सिर्फ आधा घंटे का आराम ही पर्याप्त होगा। मोटे तौर पर टीके के कोई साइड इफेक्ट नहीं हैं। वहीं छत्तीसगढ़ में 14 या 15 जनवरी से वैक्सीनेशन शुरू हो जाएगा। हालांकि आधिकारिक घोषणा होनी बाकी है।

वैक्सीनेशन से जुड़े सवाल-जवाब

सवाल – . वैक्सीनेशन के बाद मेरी नियमित दिनचर्या पर विपरीत प्रभाव तो नहीं पड़ेगा?
जवाब – बिल्कुल भी नहीं। अगर साइड इफेक्ट नजर भी आए, तो वह नाॅर्मल ही रहेंगे।
सवाल – . वैक्सीन लगवाने के बाद कितनी देर का आराम पर्याप्त होगा?
जवाब – टीकाकरण केंद्र पर आधे घंटे का आराम ही इसके लिए पर्याप्त है। कोई दिक्कत न आए तो सब कुछ सामान्य ही है।
सवाल – टीके का मैसेज नहीं देख पाया? नेटवर्क भी खराब मैं चूक गया। अब वैक्सीनेशन कैसे होगा?
जवाब – प्रदेश के सभी जिलों में ऐसे लोग जो अपने केंद्र पर टीका नहीं लगवा पाए हैं, उनके लिए हर जिले में विशेष वैक्सीनेशन बूथ बनाए जा रहे हैं।
सवाल – वैक्सीनेशन की तारीख से पहले क्या फोनकॉल भी आएगा?
जवाब – पहले चरण में टीकाकरण के लिए सीमित लोग हैं। स्थानीय स्तर पर जिले अपनी ओर से हेल्थ स्टॉफ और वर्कर के लिए फोन कॉलिंग की व्यवस्था भी कर रहे हैं।
सवाल – मुझे मैसेज कौन भेजेगा? दिल्ली से आएगा या छत्तीसगढ़ से?
जवाब – निर्धारित सिस्टम के हिसाब से कोविन पोर्टल के जरिए ही मैसेज आना है। प्रदेश और स्थानीय स्तर पर इसके लिए पोर्टल में मैसेज भेजने का सिस्टम यहां भी रहेगा।
सवाल – . जिस दिन टीका उसी दिन रिटायर हो रहा हूं? क्या पात्र हूं?
जवाब – कोविन एप के लिए एक बार नाम चले जाने के बाद रिटायर होने पर वैक्सीनेशन की पात्रता के लिए आपकी स्थिति पर कोई फर्क नहीं पड़ेगा।
सवाल – क्या मासिक धर्म के दौरान टीका लगवाया जा सकता है?
जवाब – बिल्कुल आम टीको की तरह उसे उस वक्त लगवाया जा सकता है।
सवाल – वैक्सीन को 2 से 8 डिग्री पर रखने का बंदोबस्त हुआ या नहीं?
जवाब – जरूरी तापमान का भंडार केंद्र से लेकर वैक्सीन करिअर और बूथ तक बंदोबस्त है।