महिलाएं संभालेंगी मोर्चा:गणतंत्र दिवस पर किसानों द्वारा निकाली जा रही ट्रैक्टर रैली की कमान संभालेंगी महिलाएं, हरियाणा में 250 महिलाएं सीख रहीं ड्राइविंग

  • रैली का हिस्सा बनने वाली कुछ महिलाएं पहले से ही खेतों में ट्रैक्टर चलाती हैं। लेकिन उन्होंने कभी रोड़ पर ट्रैक्टर नहीं चलाए
  • फिलहाल इन महिलाओं को ट्रेनिंग दी जा रही है ताकि वे दिल्ली में ट्रैक्टर चला सकें। उन्होंने कम समय में ट्रैक्टर चलाना सीख लिया। वे बहुत अच्छी ड्राइविंग भी कर रही हैं

सिंधु बॉर्डर पर किसान आंदोलन का हिस्सा बने किसानों का कहना है कि अगर केंद्र सरकार ने कृषि कानून वापिस नहीं लिया तो वे दिल्ली में 26 जनवरी को ट्रैक्टर परेड करेंगे। किसानों को दिल्ली की सीमा पर तैनात हुए एक महीने से भी ज्यादा हो गया है। इन किसानों ने लाल किला और राजपथ पर पहुंच कर ट्रैक्टर रैली निकालने की योजना बनाई है। इस ट्रैक्टर रैली का प्रतिनिधित्व पंजाब और हरियाणा की महिलाएं करेंगी। वे किस तरह इस रैली को अंजाम देंगी, उन्होंने ये भी सोच लिया है।

गणतंत्र दिवस पर होने वाली इस ट्रैक्टर परेड का हिस्सा बनने की तैयारी हरियाणा के हजारों किसानों ने कर ली है। टीकरी, सिंधु और गाजीपुर की बॉर्डर पर पहले से हजारों ट्रैक्टर मौजूद हैं। लेकिन यहां रैली के लिए ट्रैक्टरों की संख्या बढ़ाने की योजना भी बनाई जा रही है। हरियाणा के सभी जिलों से लगभग 250 महिलाएं इस रैली में ट्रैक्टर चलाने की ट्रेनिंग ले रही हैं।

इस रैली में महिलाएं ट्रैक्टर चलाते हुए आगे रहेंगी। उनके पीछे पुरुष ट्रैक्टर चलाएंगे। जिंद के एक बीकेयू लीडर रामराजी ढुल के अनुसार, ”ट्रैक्टर रैली में लगभग 20,000 लोग शामिल होंगे। रैली का हिस्सा बनने वाली कुछ महिलाएं पहले से ही खेतों में ट्रैक्टर चलाती हैं। लेकिन उन्होंने कभी रोड़ पर ट्रैक्टर नहीं चलाए। फिलहाल इन महिलाओं को ट्रेनिंग दी जा रही है ताकि वे दिल्ली में ट्रैक्टर चला सकें। उन्होंने कम समय में ट्रैक्टर चलाना सीख लिया। वे बहुत अच्छी ड्राइविंग भी कर रही हैं”।