ग्रामीण को अगवा कर नक्सलियों ने जमकर पीटा; 4 दिन बाद DRG की टीम ने कराया मुक्त

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में जवानों ने रेस्क्यू ऑपरेशन चलाकर एक ग्रामीण को नक्सलियों के चंगुल से मुक्त करा लिया। नक्सलियों ने 4 दिन पहले घर से उसे अगवा किया था। इस दौरान ग्रामीण को जमकर पीटा गया। इससे पहले की नक्सली उसकी हत्या कर पाते, जवानों ने उसे रविवार को सुरक्षित बचाकर अस्पताल में भर्ती कराया है। मामला कटे कल्यान थाना क्षेत्र का है।

बंधक बनाकर नक्सलियों ने ग्रामीण की जमकर पिटाई की। इसके चलते उसके पूरे शरीर पर चोट के निशान पड़े हैं।
बंधक बनाकर नक्सलियों ने ग्रामीण की जमकर पिटाई की। इसके चलते उसके पूरे शरीर पर चोट के निशान पड़े हैं।

जानकारी के मुताबिक, स्कूल पारा, टेटम निवासी भीमा मड़काम (32) को नक्सलियों ने 6 जनवरी की देर रात अगवा कर लिया था। बताया जा रहा है कि नक्सली बुधराम, विज्जा और पांडे सहित करीब 25 से 30 नक्सली भीमा के घर पहुंचे और उसे उठाकर नयनार के जंगल में ले गए थे। वहां बंधक बनाकर नक्सलियों ने ग्रामीण की जमकर पिटाई की। इसके चलते उसके पूरे शरीर पर चोट के निशान पड़े हैं।

हत्या करना चाहते थे नक्सली
इस बीच सूचना मिलने पर DRG के जवानों ने रविवार को नयनार के जंगल में धावा बोल दिया। बताया जा रहा है कि देर शाम तक चली कार्रवाई के दौरान नक्सली वहां से जान बचाकर भाग निकले। बताया जा रहा है कि भीमा मड़काम की नक्सली हत्या करना चाहते थे। उन्हें भीमा पर पुलिस मुखबिरी का शक था। DRG जवानों ने भीमा को CHC में भर्ती कराया है। ज्यादा जानकारी अभी सामने नहीं आ सकी है।