राहुल गांधी बोले- ऑपरेशन को खराब तरीके से डिजाइन किया गया, पूर्व DGP का जवाब- CRPF का अपमान न करें मिस्टर गांधी

छत्तीसगढ़ के बीजापुर में हुए नक्सली हमले में शहीद जवानों की शहादत पर सियासत शुरू हो गई है। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने सोशल मीडिया पर पोस्ट कर कहा है कि ऑपरेशन को खराब तरीके से डिजाइन किया गया था। इसे गलत तरीके से एग्जीक्यूट किया गया। राहुल की इस पोस्ट पर कश्मीर के पूर्व DGP ने सोशल मीडिया पर ही जवाब दिया। उन्होंने लिखा कि मुझे आपकी पोस्ट आपत्तिजनक लगती है। आपको ऐसा बयान नहीं देना चाहिए, जिससे फोर्स के जवानों या शहीदों का अपमान हो।

मुठभेड़ के बाद खुफिया तंत्र की नाकामी का मसला उठने पर CRPF के DG कुलदीप सिंह ने कहा था कि कोई इंटेलिजेंस फेल्योर नहीं हुआ। कुलदीप सिंह के इसी बयान के बाद राहुल गांधी ने सोशल मीडिया पर पोस्ट की। उन्होंने लिखा कि यदि कोई इंटेलिजेंस फेल्योर नहीं है, तो 1:1 डेथ रेशियो का मतलब है कि यह ऑपरेशन खराब तरीके से डिजाइन किया गया था। हमारे जवान तोपों का चारा नहीं, जिन्हें जब चाहें तब शहीद कर दिया जाए।

पूर्व DGP ने कहा- CRPF बेस्ट फोर्स है
राहुल गांधी के बयान पर कश्मीर के DGP रह चुके SP वैद ने लिखा कि मिस्टर गांधी, हालांकि मैं आमतौर पर राजनीतिक मामलों पर टिप्पणी करने से बचता हूं, मैं कश्मीर में ऑपरेशंस में शामिल रहा हूं। मुझे आपका पोस्ट CRPF के लिए अपमानजनक लगता है। इस तरह की लड़ाई में घात लगाकर मारने वालों की वजह से कोई हताहत न हो इसकी संभावना नहीं रहती।

पूर्व DGP ने कहा कि CRPF बेस्ट फोर्स है, नेताओं को ऐसा कोई बयान नहीं देना चाहिए जिससे फोर्स के जवान या शहीदों का अपमान हो। राहुल गांधी पॉलिटिकली बात करें। नक्सल इलाकों में जब ऑपरेशन होते हैं तो कई बार फोर्स को कामयाबी मिलती है तो कई बार शहादत।

छत्तीसगढ़ के CM बोले- कोई फेल्योर नहीं
रविवार रात असम से लौटकर छत्तीसगढ़ के CM बघेल ने भी कहा कि इस घटना में बिल्कुल चूक नहीं हुई है, कोई इंटेलिजेंस फेल्योर नहीं है। ये कोई कैंप पर हमला नहीं हुआ है, बल्कि हम उनको घेरने निकले थे। हम लगातार अंदर की ओर बढ़ रहे हैं। हमारे जवान वहां कैंप बना रहे हैं। इससे नक्सली अब 40×40 वर्ग किलोमीटर के एरिया में सिमट गए हैं, नक्सलियों की मूवमेंट ब्लॉक होती जा रही है। इससे उनकी गतिविधियां सीमित हो जाएंगी। वहां सड़क हम बनाएंगे, कैंप स्थापित करेंगे, वहां के लोगों को कनेक्टिविटी देंगे। हमारे ऑपरेशन आगे भी जारी रहेंगे।